[रजिस्ट्रेशन] प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना 2021 प्रॉपर्टी कार्ड ऑनलाइन आवेदन

PM Swamitva Yojana Registration | PM Swamitva Yojana Online Registration | प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना | PM Swamitva Yojana Official Website | PM Swamitva Yojana App | PM Swamitva Yojana Website | Swamitva Yojana Portal in Hindi| PM Swamitva Yojana Form | PM Swamitva Scheme PDF

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने को पीएम स्वामित्व योजना 2021 / PM Swamitva Yojana 2021 शुरू की है। केंद्रीय सरकार नए पोर्टल पर (लॉन्च किया जायेगा) पीएम स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन / पंजीकरण फॉर्म PM Swamitva Yojna Registration / Application Form Online आमंत्रित करेगी। यह ग्रामीण भारत के लिए एक एकीकृत संपत्ति सत्यापन समाधान है। अब ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग अपने गाँव की संपत्ति पर बैंकों से पीएम स्वामीत्व योजना के तहत ऋण ले सकते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना के साथ राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस (24 अप्रैल) पर ई ग्राम स्वराज पोर्टल / eGramSwaraj ऐप भी लॉन्च किया है।



नई प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना में, ग्रामीण क्षेत्रों में आबाद भूमि का सीमांकन नवीनतम सर्वेक्षण विधियों के उपयोग से किया जाएगा। इस उद्देश्य के लिए, केंद्रीय सरकार पंचायती राज मंत्रालय, राज्य पंचायती राज विभाग, राज्य राजस्व विभाग और सर्वेक्षण विभाग के सहयोग से ड्रोन की तकनीक का उपयोग करेगा। पीएम मोदी 11 अक्टूबर को स्‍वामित्‍व योजना के तहत देशभर के 763 गांवों में 1,32,000 जमींदारों को अपने घरों और आसपास के इलाकों की संपत्ति के शीर्षकों की भौतिक प्रतियां सौंपेंगे।

एकीकृत ई-ग्रामसरवाज पोर्टल (egramswaraj.gov.in) और ऐप ग्राम पंचायत विकास योजना (GPDP) को तैयार करने और लागू करने के लिए एक एकल इंटरफ़ेस प्रदान करेगा। पीएम स्‍वामित्‍व योजना पोर्टल जल्‍द ही शुरू होगा, जहां लोग अपने गांव की संपत्तियों की मैपिंग और बैंक ऋण लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें => [आवेदन] अटल बीमित व्याक्ति कल्याण योजना ESIC 2021 फॉर्म

प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना ऑनलाइन आवेदन / पंजीकरण फॉर्म

PM Swamitva Yojana Registration
PM Swamitva Yojana Registration

Online Registration / Application Form for PM Swamitva Yojana 2021 -: यहाँ हम आपको नीचे प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया प्रदान कर रहे हैं:

चरण 1: सबसे पहले आधिकारिक पीएम स्‍वामित्‍व योजना ऑनलाइन पंजीकरण पोर्टल पर जाएं (जल्द ही लांच होगी, हम यहाँ अपडेट करेंगे)।

चरण 2: आवेदक को वेबसाइट के माध्यम से नया पंजीकरण कर सकते हैं। उसके बाद आपको आवेदन करने के लिए लॉगिन करना होगा। 

चरण 3: इसके पश्चात आवेदक को पंजीकरण फॉर्म में एक-एक करके विवरण भरना होगा और आवश्यक दस्तावेज भी अपलोड करने होंगे। 

चरण 4: अंत में, आवेदक को “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा। फिर आवेदक भविष्य के संदर्भ के लिए भरे हुए आवेदन पत्र का प्रिंटआउट ले सकते हैं।

फिर प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना ऑनलाइन आवेदन करने के बारे में अधिसूचना ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजी जाएगी। पंचायती राज संस्थाओं में ई-गवर्नेंस को मजबूत करने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से विकास सुनिश्चित करेंगे।

नागरिक अब पोर्टल पर अपनी संपत्ति का पूरा विवरण देख सकते हैं। विभिन्न राज्यों में ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण और मूल्यांकन की तरह, केंद्रीय सरकार प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना ऑनलाइन पंजीकरण / आवेदन पत्र भी आमंत्रित करेगा।



यह भी पढ़ें => urise.up.gov.in U-Rise पोर्टल छात्र रजिस्ट्रेशन व लॉगिन

पीएम मोदी द्वारा गांवों में भूमि मालिकों को संपत्ति के टाइटल सौंपना

Property Titles Handing Over to Land Owners by PM Modi in Every Village -: पीएम मोदी 11 अक्टूबर को गांवों में जमीन मालिकों को संपत्ति के टाइटल सौंपेंगे। ग्रामीणों को सौंपे जाने वाले शीर्षक कार्यों से जमीन मालिकों को संपार्श्विक के रूप में अपनी संपत्ति का उपयोग करके बैंक वित्त का उपयोग करने में सक्षम बनाया जाएगा। 

इससे ग्रामीण भारत में संपत्तियों का रिकॉर्ड रखने में भी मदद मिलेगी। शीर्षक कर्म भी 2024 तक देश के 6.40 लाख गाँवों के सभी शहरी या अबादी (आबादी वाले) क्षेत्रों का नक्शा तैयार करेंगे। शीर्षक के कामों से सालों से चले आ रहे संपत्ति विवादों को समाप्त करने में भी मदद मिलेगी।

763 ग्रामीणों से भौतिक प्रतियों के साथ-साथ उपाधि कर्मों के डिजिटल संपत्ति कार्ड घर के मालिकों को सौंप दिए जाएंगे। इसमें हरियाणा से 221, कर्नाटक से 2, महाराष्ट्र से 100, मध्य प्रदेश से 44, उत्तर प्रदेश से 346, और उत्तराखंड से 50 शामिल होंगे। स्वामीत्व योजना के तहत इन शीर्षक कर्मों का वितरण ग्रामीण क्षेत्रों के लिए एक एकीकृत संपत्ति सत्यापन प्रणाली प्रदान करेगा।

स्‍वामित्‍व योजना के तहत, ग्रामीण आबादी वाले क्षेत्रों में भूमि का सीमांकन करने के लिए ड्रोन के उपयोग सहित आधुनिक तकनीकों का उपयोग करके मैप किया जाएगा। सीमांकन पंचायती राज मंत्रालय, राज्य के राजस्व विभागों और भारतीय सर्वेक्षण विभाग की मदद से किया जाएगा। 

राजस्व विभाग और अन्य विभागों के प्रतिनिधि मालिक की उपस्थिति में स्‍वामित्‍व का रिकॉर्ड तैयार करेंगे। इसके अतिरिक्त, मौके पर विवादों को निपटाने के लिए एक विस्तृत व्यवस्था भी की गई है।

यह भी पढ़ें => विशेष प्रशिक्षण मित्र योजना विकलांग कौशल विकास आवेदन

प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना के लाभ

Benefits Provided under PM Swamitva Yojana -: प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना के लाभ इस प्रकार हैं: –

1) पीएम स्वामीत्व योजना से भूस्वामी भ्रम खत्म होगा और संपत्ति पर लड़ाई समाप्त होगी।

2) यह योजना गांवों / पंचायतों में विकास के लिए उचित योजना सुनिश्चित करेगी।

3) ग्रामीण क्षेत्रों में, केंद्रीय सरकार ऑनलाइन सभी पंचायती कार्यों का ट्रैक रखेगा।

4) संघ सरकार ड्रोन के उपयोग के साथ गांवों में प्रत्येक घर की मैपिंग करेगी।

मकानों की मैपिंग के बाद, लाभार्थियों को एक पीएम स्‍वामित्‍व योजना प्रमाण पत्र मिलेगा। तदनुसार, लोग अपनी संपत्तियों से अधिक गांवों में बैंक ऋण का लाभ उठा सकेंगे, जैसे शहरी क्षेत्रों में लोग बैंक ऋण लेते हैं। इस योजना के आधार पर, केंद्रीय सरकार अगले साल से पंचायती राज दिवस पर पुरस्कार प्रदान करेगा। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को उन्नत बनाना है।

PM Swamitva Yojana Guidelines PDF Download

यह भी पढ़ें => [आवेदन] स्त्री शक्ति योजना 2 रुपये लाख तक बिना गारंटी लोन

पीएम स्‍वामित्‍व योजना के विभाग व विशेषताएं:

List of Departments & Features of PM Swamitva Yojana -: प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना के तहत 4 विभाग हैं जो नीचे सूचीबद्ध हैं:

क) पंचायती राज मंत्रालय

ख) राज्य पंचायती राज विभाग

ग) राज्य के राजस्व विभाग

डी) सर्वे ऑफ इंडिया



प्रधानमंत्री स्‍वामित्‍व योजना की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं: –

  • पीएम स्‍वामित्‍व योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि के स्वामित्व का रिकॉर्ड बनाना है।
  • यह योजना गांवों में लोगों को मालिकाना हक प्रदान करेगी और वर्षों से चले आ रहे भूमि विवाद को निपटाने में भी मदद करेगी।
  • गैर-विवादास्पद रिकॉर्ड बनाने के लिए गांवों में आवासीय भूमि को ड्रोन का उपयोग करके मापा जाएगा। यह भूमि के सर्वेक्षण और मापन के लिए नवीनतम तकनीक है।
  • इस योजना को केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय, भारतीय सर्वेक्षण, पंचायती राज विभागों और विभिन्न राज्यों के राजस्व विभागों के साथ निकट समन्वय में किया जाएगा।
  • ड्रोन का उपयोग एक गाँव के अंदर आने वाली प्रत्येक संपत्ति के लिए एक डिजिटल मानचित्र बनाने के लिए किया जाएगा और राजस्व क्षेत्रों की सीमाओं का सीमांकन भी करेगा।
  • ड्रोन-मैपिंग द्वारा वितरित सटीक मापों का उपयोग करके राज्यों द्वारा गांव में प्रत्येक संपत्ति के लिए संपत्ति कार्ड तैयार किया जाएगा।
  • एक आधिकारिक दस्तावेज के माध्यम से संपत्ति के अधिकार का वितरण ग्रामीणों को संपार्श्विक के रूप में अपनी संपत्ति का उपयोग करके बैंक वित्त तक पहुंचने में सक्षम करेगा।

यह भी पढ़ें => सोनू सूद प्रवासी रोजगार ऑनलाइन पंजीकरण व मोबाइल ऐप डाउनलोड

पीएम स्‍वामित्‍व योजना की पृष्ठभूमि

PM Swamitva Yojana Background -: हर साल 24 अप्रैल को केंद्रीय सरकार राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस मनाता है। ग्रामीण क्षेत्रों में ई-प्रशासन को मजबूत करने के लिए, सरकार अब पीएम आवास योजना, ई-ग्राम स्वराज ऑनलाइन पोर्टल, और ई-ग्रामराज मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। 

कोविड-19 महामारी के कारण पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ये पहल शुरू की है। हर साल इस अवसर पर, पंचायती राज मंत्रालय सेवाओं और सार्वजनिक वस्तुओं के वितरण में सुधार के लिए अपने अच्छे काम को मान्यता देने के लिए पंचायतों के प्रोत्साहन के तहत देश भर में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले पंचायतों / राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों को पुरस्कृत करता रहा है।

पुरस्कारों को विभिन्न श्रेणियों के अंतर्गत दिया जाता है, जैसे दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरन पुरस्कार (DDUPSP), नानाजी देशमुख गौरव ग्राम सभा पुरस्कार (NDRGPP), बाल सुलभ ग्राम पंचायत पुरस्कार (CFGPA), ग्राम पंचायत विकास योजना (GPDP) पुरस्कार आदि। 

पंचायत पुरस्कार (केवल राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों को दिया जाता है)। इस साल केवल 3 श्रेणियों के तहत कोरोनावायरस लॉकडाउन पुरस्कारों के कारण। नानाजी देशमुख गौरव ग्राम सभा पुरस्कार (NDRGGSP), बाल-सुलभ ग्राम पंचायत पुरस्कार (CFGPA) और ग्राम पंचायत विकास योजना (GPDP) पुरस्कार को अंतिम रूप दिया गया है और संबंधित राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों के साथ साझा किया जाएगा।

इसके अलावा, अन्य 2 श्रेणियों में पुरस्कार को अंतिम रूप से दिया जाएगा और सीओवीआईडी ​​-19 महामारी के प्रकोप के कारण विलंबित प्रक्रिया के पूरा होने के बाद अलग-अलग राज्यों को सूचित किया जाएगा। NPRD कार्यक्रम डीडी-न्यूज पर टेलीकास्ट / वेबकास्ट किया जाएगा और ई-इवेंट को लॉकडाउन मानदंडों और सोशल डिस्टेंसिंग से समझौता किए बिना राज्य / जिला / ब्लॉक / पंचायत स्तर के स्तर पर पंचायती राज विभागों और अन्य हितधारकों के अधिकारियों द्वारा देखा जाएगा।



इस योजना की अधिक जानकारी के लिए egramswaraj.gov.in पर या panchayatonline.gov.in पर जाएँ। यहाँ आपको पीएम स्‍वामित्‍व योजना की पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

यह भी पढ़ें => प्रधानमंत्री स्वनिधि मोबाइल ऐप डाउनलोड 10,000 रु लोन आवेदन

 हमारा फेसबुक पेज लाइक करें ✥

 हमारा ट्वीटर हेंडल फॉलो करें 

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।


यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

You may also like...