उत्तर प्रदेश ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण ई-रजिस्ट्री पेपर डाउनलोड

UP Property Registration | IGRSUP UP | Check Land Registry Online Uttar Pradesh | UP Sampati Lekhpatra Panjikaran | UP e-Registry | UP Property Registration Charges | Apni Sampati Khoje | यूपी ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण | UP Registry Check Online | IGRSUP Gov Information | IGRSUP Login | Bainama Kaise Dekhe

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्टाम्प और पंजीकरण विभाग के आधिकारिक igrsup.gov.in पोर्टल पर “यूपी ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण / UP Online Proeprty Registration or UP Online Sampati Panjikaran” सुविधा शुरू की है। इस सुविधा से नागरिकों को सरल तरीके से अपनी संपत्ति की रजिस्ट्री / Property Regitary प्राप्त करने में मदद मिलेगी। इसके माध्यम से, संपत्ति पंजीकरण के लिए किसी भी तीसरे पक्ष की आवश्यकता समाप्त हो जाएगी, जिसके परिणामस्वरूप पारदर्शिता और भ्रष्टाचार को कम किया जा सकेगा। उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट igrsup.gov.in के माध्यम से ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण भी कर सकते हैं



यह ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण / Sampatti Lekhpatra Panjikaran सुविधा निश्चित रूप से समय की बचत करेगी और विभिन्न दस्तावेजों की फोटोकॉपी की आवश्यकता को भी कम करेगी। इसके अलावा, उत्तर प्रदेश सरकार जल्द ही पूरे राज्य में किसानों के लिए इस सेवा का विस्तार करेगा जिसमें वे अपनी कृषि भूमि और संपत्तियों का पंजीकरण करा सकते हैं।

यह भी पढ़ें => [पंजीकरण] उत्तर प्रदेश शादी अनुदान योजना 2020-2021 ऑनलाइन

यूपी ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण

UP Property Registration Sampati Panjikaran Online
UP Property Registration Sampati Panjikaran Online

UP Online Property Registration or UP Sampati Lekhpatra Panjikaran -: सभी खरीदारों को संपत्ति की रजिस्ट्री से पहले ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा। ई-रजिस्ट्री / e-Registry के लिए विधि हिंदी में सेट की गई है। ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया नीचे दी गई है: –

  • सबसे पहले यूपी के स्टाम्प और रजिस्ट्रेशन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट igrsup.gov.in पर जाएं।
  • फिर होमपेज पर, “सम्पत्ति पंजीकरण” अनुभाग के तहत “आवेदन करें” पर क्लिक करें या सीधे नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।



Online Property Registration / e-Registry

  • फिर आवेदक को “नवीन आवेदन” लिंक पर क्लिक करना होगा। इसके बाद, यूपी लेखपत्र पंजीकरण या यूपी ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण पृष्ठ आपके कंप्यूटर या मोबाइल स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  • इसके बाद सभी विवरण जैसे कि “जनपद, तहसील, उपनिबंधक, मोबाइल नंबर, पासवर्ड, कैप्चा” भरें और फिर “प्रवेश करें” बटन पर क्लिक करें। आवेदन संख्या प्राप्त करने के लिए सभी विवरण सही-सही भरे जाने चाहिए।
  • ऑनलाइन आवेदन करने के बाद, यूपी ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण उपयोगकर्ता लॉगिन विंडो खोलने के लिए “प्रयोक्ता लॉगिन” टैब पर क्लिक करें।
  • लॉगिन करने के बाद, संपत्ति पंजीकरण डैशबोर्ड खुल जाएगा, जहां आवेदक संपत्ति के बारे में पूरा विवरण दर्ज कर सकते हैं।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (भुगतान के साथ) को पूरा करने के बाद, उम्मीदवारों को रजिस्ट्री की तारीख के रूप में नियुक्ति की तारीख मिलेगी। सभी विवरण पंजीकृत मोबाइल नंबर पर SMS के माध्यम से भेजे जाएंगे। इसके अलावा, उम्मीदवारों को नियुक्ति तिथि पर उप-पंजीयक कार्यालय में उपस्थित होना होगा।

अंत में, खरीदार को एक ऑनलाइन टिकट खरीदने के लिए एक अद्वितीय कोड प्राप्त होगा जो एक उम्मीदवार को संपत्ति रजिस्ट्री प्राप्त करने के लिए संबंधित उप-पंजीयक कार्यालय में जमा करना होगा।

यह भी पढ़ें => [Sewayojan] UP बेरोजगारी भत्ता योजना 2020 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण के लाभ:

Property Registration Online Benefits -: उत्तर प्रदेश के सभी नागरिक इस ऑनलाइन पंजीकरण सुविधा से निम्नलिखित लाभ उठा सकते हैं: –



१ = अब उम्मीदवारों को यहां और वहां घूमने की जरूरत नहीं है और संपत्ति पंजीकरण प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रार कार्यालय में कई घंटों तक इंतजार करना पड़ता है।

२ = यह ई-सेवा ऑनलाइन प्रक्रिया की तर्ज पर बनाई गई है जिसे पासपोर्ट कार्यालय द्वारा अपनाया जाता है।

३ = इसके अलावा, उम्मीदवार इस ई-सेवा का उपयोग आवासीय और वाणिज्यिक दोनों संपत्तियों के लिए कर सकते हैं।

४ = यह ई-सेवा रजिस्ट्री के अधिकांश काम ऑनलाइन करेगी जिसमें स्टांप पेपर की खरीद शामिल है।

यह भी पढ़ें => [UP e-Challan] उत्तर प्रदेश ई-चालान भुगतान व स्टेटस ऑनलाइन

ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण सुविधा का कार्यान्वयन:

Property Registration Online Facility Implementation -: राष्ट्रीय सूचना केंद्र ने इस ई-सेवा को डिजाइन किया है जिसे उत्तर प्रदेश सरकार प्रभावी ढंग से लागू होगा: –

  • प्रारंभिक चरण – पहले चरण में, राज्य सरकार यूपी के 5 शहरों – लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद, कासगंज, बाराबंकी में इस योजना को शुरू करेगी।
  • विस्तार – राज्य सरकार इस योजना को अन्य शहरों में भी विस्तारित करने जा रहा है। इस प्रयोजन के लिए, यूपी सरकार कई उपाय कर रही है: –
    • राजस्व विभाग यूपी ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण की प्रक्रिया को समझने और ई-पंजीकरण से संबंधित प्रश्नों को संभालने के लिए अधिकारियों को प्रशिक्षण दे रहा है।
    • इसके अलावा, राज्य सरकार ने 11 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किए हैं।



संबंधित रजिस्ट्रार कार्यालय दस्तावेजों के पंजीकरण के उद्देश्य के लिए एक तारीख तय करेगा। इसके अलावा, उम्मीदवारों को बिक्री प्रक्रिया को निष्पादित करने के लिए एक और तारीख मिलेगी।

यह भी पढ़ें => उत्तर प्रदेश जन्म प्रमाणपत्र ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आवेदन पत्र

 हमारा फेसबुक पेज लाइक करें ✥

 हमारा ट्वीटर हेंडल फॉलो करें 

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।


यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

You may also like...