छात्रों हेतु सूखा (ड्राई) राशन किट योजना 2021 मिड-डे मील स्कीम

Delhi Dry Ration Kit Scheme | Delhi Dry Ration Kit Yojana in Hindi | दिल्ली ड्राई राशन किट योजना | छात्र ड्राई राशन किट योजना | Food in Dry Ration Kit Delhi | Food Quantity in Delhi Dry Ration Kit for Students | Free Ration Kit in Delhi | Delhi CM Ration Kit Distribution | Delhi Ration Kit Vitaran | Delhi Free Ration Vitaran

दिल्ली सरकार द्वारा छात्रों के लिए सूखा (ड्राई) राशन किट योजना / Delhi Student Dry Ration Kit 2021 शुरू की जा रही है। इस योजना में, राज्य सरकार अगले 6 महीनों के लिए मिड-डे मील योजना (Mid-Day Meal Scheme) के तहत अपने स्कूलों के छात्रों को सूखा यानी ड्राई राशन (Dry Ration) प्रदान करेगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह घोषणा पिछले वर्ष 29 दिसंबर को छात्रों के लिए शुष्क राशन किट योजना के लिए की है।

यह भी पढ़ें => COVID-19 कोरोना वैक्सीन पाने के लिए CO-WIN ऐप पर रजिस्ट्रेशन

दिल्ली छात्र सूखा राशन किट योजना 2021 के बारे में

Delhi Students Free Ration Kit Scheme

About Delhi Students Dry Ration Kit Scheme 2021 -: कोविड-19 महामारी के प्रकोप के कारण पिछले वर्ष मार्च से स्कूलों को बंद रखने के एवज में स्टूडेंट्स ड्राई राशन किट स्कीम (Students Dry Ration Kit Scheme) लॉन्च करने का कदम आया है। 

पहले जब स्कूल बंद थे, दिल्ली सरकार माता-पिता के खाते में मध्यान्ह भोजन के लिए पैसे भेजने का फैसला किया था। हालांकि अब छह महीने के लिए छात्रों को सूखा राशन किट प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें => [पंजीकरण] दिल्ली बेरोजगारी भत्ता योजना ऑफिसियल वेबसाइट

दिल्ली में छात्रों के लिए सूखा राशन किट योजना की शुरुआत

Dry Ration Kits Scheme for Students Launched in Delhi by CM -: माननीय सीएम अरविंद केजरीवाल ने सूखा राशन वितरण कार्यक्रम में छात्र सूखा राशन किट योजना की घोषणा की है।



इस योजना को पिछले वर्ष 29 दिसंबर को मंडावली क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल में एसकेवी नंबर 3 में हरी झंडी दिखाई गई और शुरुआत के रूप में 52 छात्रों के माता-पिता को किट वितरित किए गए। 

घातक कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए मार्च में देश भर के स्कूलों को बंद कर दिया गया था। कुछ स्कूलों को पिछले वर्ष 15 अक्टूबर से कुछ राज्यों में आंशिक रूप से फिर से खोल दिया गया था। 

लेकिन दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि जब तक कोविड-19 वैक्सीन नहीं आती तब तक राष्ट्रीय राजधानी में स्कूल फिर से नहीं खुलेंगे।

यह भी पढ़ें => दिल्ली COVID-19 कोरोना मोबाइल ऐप डाउनलोड लिंक व अस्पताल सूची

छात्र सूखा राशन किट योजना के लाभार्थियों की संख्या

Students Dry Ration Kit Scheme Beneficiaries Numbers -: दिल्ली सरकार के स्कूलों के लगभग 8 लाख छात्रों को स्टूडेंट्स ड्राई राशन किट योजना के तहत सूखा राशन किट मिलेगा। हालांकि, राज्य सरकार मिड-डे मील योजना के तहत सूखे राशन देना जारी रखेगी, जब तक कि स्कूल बंद रहेंगे।

Hon’ble CM Shri @ArvindKejriwal distributing dry ration kits to school students under the Mid-day meal scheme | LIVE https://t.co/p1TlsgEe84

— Manish Sisodia (@msisodia) December 29,

यह भी पढ़ें => दिल्ली नया राशन कार्ड ऑनलाइन आवेदन व e-Ration Card डाउनलोड

छात्रों को सूखा राशन किट योजना की आवश्यकता

Why Dry Ration Kits are Necessary for Students in Dehli -: पिछले 9 महीने कठिन रहे और दिल्ली राज्य सरकार निकट भविष्य में इसमें सुधार नहीं होगा। सबसे ज्यादा प्रभावित स्कूली बच्चे हुए हैं। 

कई बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण से समझौता किया गया था, क्योंकि कोविड-19 लॉकडाउन के कारण, एक गरीब व्यक्ति को कमाने में मुश्किल हुई। कोरोनावायरस लॉकडाउन के कारण, शिक्षा को हुए नुकसान की भरपाई शायद बाद में नहीं की जा सकती।

राज्य सरकार स्कूलों को खोलने की इच्छा है और उम्मीद है कि वैक्सीन के आने के बाद चीजें बेहतर हो जाएंगी। कई दैनिक मजदूरी कमाने वाले नहीं कमा सकते थे और इसने उनके बच्चों पर भी नकारात्मक प्रभाव डाला है। 

दिल्ली सरकार छह-महीने की मध्याह्न भोजन योजना के पैसे को अभिभावकों के खातों में भेजने की योजना बना रहा है, लेकिन यह तय किया कि उसी राशि का राशन देना बेहतर होगा।

यह भी पढ़ें => [Apply] दिल्ली विधवा पेंशन योजना रु 2500 भत्ता ऑनलाइन आवेदन

दिल्ली में स्कूली छात्रों के लिए छात्र सूखा राशन किट में क्या है?

What All Students will Get Inside Dry Ration Kit -: ड्राई राशन किट में 10.425 किलोग्राम गेहूं और चावल प्रत्येक छात्र, 7.713 किलोग्राम दाल और 2 लीटर तेल छात्र शुष्क राशन किट योजना में शामिल थे। 

अक्षय पात्र गैर-लाभकारी संगठन ने स्टेशनरी, साबुन, सैनिटरी नैपकिन, बिस्कुट और अन्य वस्तुओं से युक्त एक अतिरिक्त किट भी वितरित किया।



किट की लागत प्राथमिक छात्रों के लिए प्रति दिन 4.09 रुपये और उच्च प्राथमिक छात्रों के लिए 6.14 रुपये प्रति दिन है जो सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। 

सामान्य समय में, सरकार को प्रति प्राथमिक छात्र (कक्षा 1 से 5 वीं) प्रति दिन प्रति छात्र 4.48 रुपये और उच्च प्राथमिक छात्र (कक्षा 6 ठी से 12 वीं) प्रति दिन 6.71 रुपये का बिल दिया जाता है।

यह भी पढ़ें => [EV] दिल्ली इलेक्ट्रिक वाहन पॉलिसी सब्सिडी व रोड टैक्स छूट

कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बीच दिल्ली सरकार की पहल

Initiatives by Delhi Government During COVID-19 Pandemic Outbreak -: मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली सरकार ने विभिन्न स्थानों पर “लंगर” का आयोजन करके लगभग 10 लाख लोगों को दोपहर और रात के खाने के साथ परोसा। 

लगभग 3 से 4 महीने तक, लगभग 1 करोड़ लोगों को सूखा राशन दिया गया। राशन में आटा, चावल, दाल और तेल शामिल थे। वरिष्ठ नागरिकों और विधवाओं की पेंशन दोगुनी कर दी गई। 

निर्माण श्रमिकों, टैक्सी ड्राइवरों को प्रत्येक के बैंक खाते में 5,000 रुपये मिले। सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली की एनसीटी की सरकार के ये प्रयास थे।

दिल्ली सरकार द्वारा आयोजित किये गए कार्यक्रम में मधु विहार की एकल माँ अंजू (35), जिनकी बेटी साक्षी (12) कक्षा 4 में है, राशन किट पाने वालों में से एक थी। इस योजना की अधिक जानकारी के लिए आप दिल्ली शिक्षा विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें => [आवेदन] HIMS योजना ई-हेल्थ कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन दिल्ली

 हमारा फेसबुक पेज लाइक करें ✥

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

You may also like...