Gobar-Dhan Yojana Registration | Gobar Dhan Yojana in Hindi | प्रधानमंत्री गोबर धन योजना | Gobar Dhan Yojana Application Form | Gobar Dhan Yojana Launched by Which State | गोबर धन स्कीम | GOBARDhan Swachh Bharat Mission | GOBAR-DHAN Scheme

केंद्र सरकार गोबर धन योजना 2021 / Gobar Dhan Scheme 2021 ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म https://sbm.gov.in/Gobardhan/ पर आमंत्रित कर रही है। इस योजना को गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज (गोबर) धन योजना को पहली बार तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 1 फरवरी 2018 को घोषित किया था। गोबर-धन आम तौर पर स्वच्छ जैव गैस ईंधन से ग्रामीण लोगों और विशेष रूप से महिलाओं को लाभान्वित करेगा। यह स्वास्थ्य में सुधार और गांवों में स्वच्छता में सुधार के माध्यम से किया जाएगा।

इस लेख के अंतर्गत हम आपको गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज यानी गोबर धन योजना / Galvanizing Organic Bio-Agro Resources Scheme or Gobar Dhan Yojana की पूरी जानकारी प्रदान कर रहे हैं। इस लेख के माध्यम से आप इस योजना के लाभ, पंजीकरण की विधि, पात्रता व आवश्यक दस्तावेजों की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। अतः इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

यह भी पढ़ें - [Registration] सीबीएसई मुफ्त ऑनलाइन टीचर ट्रेनिंग कोर्स

प्रधानमंत्री गोबर धन योजना क्या है?

PM Modi Gobar Dhan Yojana Registration
What is Gobar Dhan Scheme -: गोबर धन पहल जैव-निम्नीकरणीय अपशिष्ट और संसाधनों में कचरे के रूपांतरण को बढ़ावा देती है। यह किसानों और परिवारों को आर्थिक और संसाधन लाभ प्रदान करेगा और स्वच्छ गाँव बनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी, जो स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) का उद्देश्य है। 

यह गोबर धन योजना मवेशी / पशुओं के गोबर के प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करेगी और इसे जैव-ईंधन / जैव-सीएनजी के रूप में उपयोग करेगी। यह योजना “2022 तक किसानों की आय दोगुनी (Double the Farmers Income by 2022)” करने के लिए केंद्रीय सरकार का एक और कदम है।

25 फरवरी 2018 को 41 वें मन की बात कार्यक्रम में पीएम ने किसानों को खाद, बायो-गैस और जैव ईंधन में बदलने के लिए कहा। इससे प्रदूषण कम होगा और किसानों के लिए अतिरिक्त आय होगी। इसके लिए सरकार ने गोबर धन योजना पोर्टल (Gobar Dhan Yojana Portal) शुरू किया है।

गोबर धन योजना के बारे में (About Gobar Dhan Scheme):

योजना का नामगोबर धन योजना
विभाग का नामस्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण)
राज्य का नामपूरे भारत में लागू
योजना लाभार्थीग्रामीण पशुधन पालक परिवार
योजना का लाभगोबर से खाद, जैव ईंधन बनाकर अतिरिक्त आय
योजना का उद्देश्य2022 तक किसानों की आय दोगुनी
पंजीकरण की विधिऑनलाइन आधिकारिक पोर्टल द्वारा
पंजीकरण शुल्ककुछ नहीं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://sbm.gov.in/Gobardhan/

यह भी पढ़ें - [Apply] प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना 10,000 रु लोन ऑनलाइन आवेदन

गोबर धन योजना ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म

Online Registration Form for Gobar Dhan Scheme -: नीचे गोबर धन योजना ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने की पूरी प्रक्रिया नीचे दी गई है: -

  • होमपेज पर, मुख्य मेनू में मौजूद "पंजीकरण / Registration" टैब पर क्लिक करें जो आपके कंप्यूटर या मोबाइल स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  • लोग गोबर धन योजना को ऑनलाइन खोलने के लिए https://sbm.gov.in/Gobardhan/Registration.aspx पर भी सीधे लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।
  • इस फॉर्म में, सभी आवेदक किसान व्यक्तिगत विवरण जैसे नाम, ई-मेल आईडी, पते का विवरण जैसे पूरा पता, राज्य / ब्लॉक / जिला / ग्राम पंचायत / गाँव दर्ज कर सकते हैं, पंजीकरण विवरण जैसे यूजर आईडी, मोबाइल नंबर, ओटीपी कोड, पासवर्ड, कैप्चा कोड आदि डालें।

अंत में, आवेदक गोबर धन योजना ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म (Gobar Dhan Scheme Online Registration Form) को पूरा करने के लिए "सबमिट / Submit" बटन पर क्लिक कर सकते हैं। सफल पंजीकरण के बाद, आवेदक किसान अपने उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड का उपयोग करके "लॉगिन / Login" कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें - प्रधानमंत्री विश्वास योजना सभी बैंक लोन पर 5% नगद सब्सिडी आवेदन

एसबीएम गोबरधन योजना के क्या उद्देश्य हैं?

What is the Main Objective of SBM Gobardhan Scheme -: एसबीएम गोबरधन योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण आय, ग्रामीण नौकरियों को बढ़ाना और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के माध्यम से गांवों को साफ रखना है। तदनुसार, गोबर धन योजना का लक्ष्य 3E के साथ ग्राम पंचायतों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करना है, जो इस प्रकार हैं: -

  • ऊर्जा: जैव-गैस संयंत्रों के माध्यम से जैव-ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए कृषि और पशु अपशिष्ट के उपयोग के माध्यम से ऊर्जा के संबंध में आत्मनिर्भरता।
  • सशक्तीकरण: ग्रामीण लोगों, विशेषकर महिला स्वयं सहायता समूहों को निर्माण, प्रबंधन और जैव-गैस संयंत्रों के दिन-प्रतिदिन संचालन में संलग्न करना।
  • रोजगार: ग्रामीण युवाओं और महिलाओं के बीच कचरे का संग्रह, ट्रीटमेंट प्लांट्स के लिए परिवहन, ट्रीटमेंट प्लांट का प्रबंधन, बायो-गैस के उत्पादन और बिक्री के वितरण आदि के माध्यम से रोजगार पैदा करना।

इस योजना का उद्देश्य मवेशियों के गोबर और ठोस कचरे को खेतों में खाद, जैव-घोल, जैव-गैस और जैव-सीएनजी के प्रबंधन और परिवर्तित करना है। यह पहल जैव-अपघट्य अपशिष्ट वसूली और संसाधनों में कचरे के रूपांतरण का समर्थन करेगी। अधिक जानकारी के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

SBM Gobardhan Scheme Official Notification

यह भी पढ़ें - [Health Id] NDHM राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन स्वस्थ्य कार्ड

गोबर धन योजना आवेदन की स्थिति की जाँच करें

Check Application Status for Gobar Dhan Yojna -: गोबर धन योजना (5 सितंबर तक) के तहत आवेदनों की वर्तमान स्थिति नीचे दी गई तालिका में दी गई है: -

सेवा प्रकारसंख्या
आवेदन / डीपीआर प्राप्त340
आवेदन / डीपीआर स्वीकृति का इंतजार198
आवेदन / डीपीआर प्राप्त होने पर गांवों की संख्या319
आवेदन / डीपीआर स्वीकृत117
आवेदन / डीपीआर ब्लॉक द्वारा अनुमोदित169
आवेदन / डीपीआर अस्वीकृत14
गठित एसटीएसी की संख्या23
कुल तकनीकी एजेंसी की संख्या129

यह भी पढ़ें - [Apply] PM बालिका अनुदान योजना बेटी हेतु रु 50,000 सहायता

गोबर धन योजना की मुख्य विशेषताएं

Gobar Dhan Yojana Salient Features -: गोबर धन योजना का मुख्य उद्देश्य कचरे को ऊर्जा में परिवर्तित करने के अलावा किसानों को आत्मनिर्भर बनाना है। यह योजना मवेशियों के गोबर के प्रबंधन और पुन: उपयोग में मदद करेगी और इस तरह राष्ट्र को "खुले में शौच मुक्त / Open Defecation Free" बनाया जा सकेगा।

किसान इस कचरे को कृषि में खाद और उर्वरक के रूप में पुन: उपयोग कर सकते हैं। इस कृषि-केंद्रित योजना को पहली बार केंद्रीय बजट 2018-19 में ग्रामीणों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए घोषित किया गया था। इस योजना की महत्वपूर्ण विशेषताएं और मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं: -

  • केंद्रीय सरकार ने मवेशी गोबर के प्रबंधन को बढ़ावा देने और इसका पुन: उपयोग करने के लिए गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन (गोबर धन) योजना शुरू की है।
  • इसके बाद, यह योजना “स्वच्छ भारत मिशन” में योगदान करेगी और भारत को ओडीएफ मुक्त बनाने में मदद करेगी।
  • इसके अतिरिक्त, गोबर धन योजना ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के जीवन में सुधार करेगी तथा उनकी आर्थिक स्तिथि को सुधरने में मदद करेगी।
  • इसके अलावा, किसान अपने खेतों में इस ठोस कचरे और गोबर का उपयोग कर सकते हैं और इसे खाद, उर्वरक, जैव-गैस और जैव-ईंधन के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं।
  • इसके अलावा, केंद्रीय सरकार ने गांवों में विभिन्न स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र खोलने, ग्रामीण व्यापार केंद्रों के लिए बुनियादी ढांचे में सुधार, गांवों और शहरों के बीच बेहतर संपर्क और उच्च शिक्षा के लिए केंद्रों के लिए अन्य निर्णय भी लिए हैं।

केंद्रीय सरकार ने उन 115 जिलों की भी पहचान की है जहां सरकार विभिन्न सामाजिक सेवाओं में निवेश करेगा और उन्हें रोल मॉडल के रूप में विकसित करेगा। 

इन सामाजिक सेवाओं में समय पर ढंग से स्वास्थ्य और शिक्षा, पोषण, ग्रामीण विद्युतीकरण और पीने का पानी शामिल होगा। किसान नीचे दिए गए लिंक पर गोबर धन योजना उपयोगकर्ता पुस्तिका भी देख सकते हैं।

Download Gobar Dhan Yojana User Manual PDF

यह भी पढ़ें - [आवेदन] आत्मनिर्भर भारत Rs 50,000 बिना गारंटी मुद्रा लोन योजना

पीएम मोदी मन की बात 41 वां कार्यक्रम:

41st Programme of Prime Minister Narendra Modi Man Ki Baat -: राष्ट्र के लिए अपने 41 वें संबोधन (मन की बात) में, पीएम मोदी ने घोषणा की है कि केंद्रीय सरकार किसानों को खरीदारों से जोड़ने के लिए एक ऑनलाइन गोबर धन योजना पोर्टल शुरू करने जा रहा है। 

केंद्रीय सरकार का लक्ष्य कचरा संग्रहण और परिवहन के माध्यम से नई नौकरियां पैदा करना है। इसके अलावा स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत, सरकार गोबर, खेत अपशिष्ट, रसोई कचरे को बायोगैस ऊर्जा में परिवर्तित करने पर ध्यान केंद्रित करेगी।

इस योजना के तहत, सरकार गांवों के लिए बायोगैस के माध्यम से "स्वास्थ्य के लिए अपशिष्ट" और "ऊर्जा की बर्बादी" पर विशेष जोर देगी। यह गोबर धन योजना गांवों को स्वच्छ बनाएगी और छोटे और सीमांत किसानों की आय बढ़ाएगी।

यह भी पढ़ें - [पंजीकरण] प्रधानमंत्री श्रमिक सेतु पोर्टल व मोबाइल ऐप डाउनलोड
__________________


उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।