मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ गाय का गोबर Rs 2/Kg बेचें

Share:
Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana | छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना | CG Godhan Nyay Yojana | Godhan Nyay Yojana | गोधन न्याय योजना | छत्तीसगढ़ गोबर खरीद स्कीम | Godhan Nyay Yojana in Hindi | 2 रूपये किलो गोबर | Sell Cow Dung

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना / Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana 20 जुलाई 2020 को पशुपालन को बढ़ावा देने और इसे व्यावसायिक रूप से लाभदायक बनाने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई है। इस योजना को शुरू करने से छत्तीसगढ़ राज्य पशु मालिकों से 2 रुपये प्रति किलो पर गोबर खरीदने वाला पहला भारतीय राज्य बन गया। यह गोधन न्याय योजना / CG Godhan Nyay Yojana मवेशियों द्वारा खुले चराई को रोकने और सड़कों पर आवारा पशुओं की समस्या को हल करने और पर्यावरण संरक्षण के लिए होगी। यह योजना अब हरेली त्योहार के दिन से छत्तीसगढ़ राज्य में लागू करने के लिए शुरू की गई है। पशुधन मालिक अब सरकार को गाय का गोबर या उस से बने उपले बेच सकते हैं तथा राज्य सरकार इसका उपयोग जैविक खाद तैयार करने में करेंगे।


मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राज्य की राजधानी रायपुर में आयोजित एक समारोह में प्रतीकात्मक रूप से गाय के गोबर से छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना (CG Godhan Nyay Yojana) का उद्घाटन किया। इस नई योजना के माध्यम से, पशुपालकों के लिए पशुपालन और गाय-गोबर प्रबंधन अधिक लाभदायक हो गया है। इस गोबर खरीद योजना के कार्यान्वयन से रोजगार के अवसर पैदा होंगे और ग्रामीण किसानों के लिए अतिरिक्त आय होगी।


गोधन न्याय योजना में, गाय के गोबर को निर्धारित दर पर खरीदा जाएगा और सहकारी समितियों से प्राप्त किया जाएगा। मंत्रिमंडल के तहत गठित 5 सदस्यीय उप-समिति ने गाय के गोबर की खरीद दर 2 रुपये प्रति किलोग्राम निर्धारित की है। मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली सचिवों की समिति ने गाय-गोबर प्रबंधन की पूरी प्रक्रिया को अंतिम रूप दे दिया है।


छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना 2020 विवरण

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana in Hindi

Detailed Information About Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana 2020 -: गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ राज्य के पशुधन मालिकों के वित्तीय हितों की रक्षा करने की दिशा में एक अभिनव कदम है। नई योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किए गए प्रयासों को बढ़ावा देने की संभावना है।

गोधन न्याय योजना क्या है?

What is CG Godhan Nyay Yojana? -: गोधन न्याय योजना के तहत, छत्तीसगढ़ सरकार पशुधन मालिकों से 2 रुपये प्रति किलोग्राम की निश्चित खरीद दर पर गाय के गोबर की खरीद करेगी। गोधन समितियां किसानों और पशुपालकों से 2 रुपये / किलोग्राम पर गोबर की खरीद करेंगी। महिला स्वयंसहायता समूह यानी एसएचजी (Self-Help Groups / SHG) खरीदे गए गोबर के उपयोग से वर्मिन कम्पोस्ट तैयार करेंगे। वर्मी-कम्पोस्ट की खरीद 8 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से की जाएगी। इसके अलावा, खरीदे गए गाय के गोबर का उपयोग अन्य उत्पादों के निर्माण के लिए भी किया जा सकता है।


गाय के गोबर की खरीद दर किसने तय की है?

Who Fixed the Price for Cow Dung -: गोधन न्याय योजना के तहत, गाय के गोबर के लिए दो रुपये प्रति किलोग्राम की खरीद दर को मंत्रिमंडल की 5 सदस्यीय उप-समिति द्वारा तय किया गया है। इस कैबिनेट उप समिति की अध्यक्षता कृषि और जल संसाधन मंत्री रवींद्र चौबे ने की थी। इस समिति में वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, सहकारिता मंत्री डॉ। प्रेमसाई सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ। शिव कुमार डहरिया, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल शामिल हैं। पशुपालकों, किसानों, गौशाला संचालकों और अन्य विशेषज्ञों से प्राप्त सुझावों पर विचार-विमर्श करने के बाद गाय के गोबर की खरीद दर तय की गई है।


गाय के गोबर की खरीद दर किसने तय की है?

Who has fixed the Procurement Rate for Cow Dung -: गोधन न्याय योजना के तहत, गाय के गोबर के लिए दो रुपये प्रति किलोग्राम की खरीद दर को मंत्रिमंडल की 5 सदस्यीय उप-समिति द्वारा तय किया गया है। इस कैबिनेट उप समिति की अध्यक्षता कृषि और जल संसाधन मंत्री रवींद्र चौबे ने की थी। इस समिति में वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, सहकारिता मंत्री डॉ प्रेमसाई सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ शिव कुमार डहरिया, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल शामिल हैं। पशुपालकों, किसानों, गौशाला संचालकों और अन्य विशेषज्ञों से प्राप्त सुझावों पर विचार-विमर्श करने के बाद गाय के गोबर की खरीद दर तय की गई है।


क्या छत्तीसगढ़ सरकार गाय की खरीद शुरू कर दी है?

When The Chhattisgarh Government has Started Cow Dung Procurement -: छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने हरेली महोत्सव से निर्धारित खरीद दर पर गाय के गोबर की खरीद शुरू कर दी है। चूंकि त्योहार कृषि और पर्यावरण से जुड़ा है, इसलिए इस अवसर पर गोधन न्याय योजना शुरू की गई है। सीएम भूपेश बघेल ने पशुधन, कृषि उपकरण और हरेली उत्सव की विस्तारित पूजा की। यह योजना खेतों और पशुपालकों के लिए एक वरदान साबित होगी, इसके अलावा यह मवेशियों के खुले चराई की जाँच करेगा।




उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

No comments

आपका हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर कमेंट करने के लिए ध्यन्यवाद। हमारी टीम आप से जल्द ही संपर्क करेगी तथा आपकी समस्या का हल करेगी। हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर आते रहें।