1 जुलाई से अनलॉक 2.0 घोषित यहाँ जानें नियम व निर्देश (हिंदी में)

Share:
India Unlock 2 | India Unlock 2.0 Rules | India Unlock 2 Guidelines | India Unlock 2 Niyam in Hindi | अनलॉक 2 नियम | भारत अनलॉक 2.0 दिशानिर्देश | Unlock 2 New Rules in Hindi

महत्वपूर्ण बिंदु (Important Points):

  • लॉकडाउन के लगातार चार चरणों के बाद, केंद्र ने 1 जून से "अनलॉक 1.0 / Unlock 1.0" की घोषणा की थी, जिसमें कई क्षेत्रों में चरणबद्ध तरीके से सेवाएं फिर से शुरू हुईं थी। 
  • इस सप्ताह के शुरू में सीएम के साथ उनकी बातचीत में, पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि सभी राज्यों में कोविड-19 संक्रमण के उच्च और बढ़ते मामलों के साथ सख्त प्रोटोकॉल बनाए रखना महत्वपूर्ण है। अब देश में धीरे-धीरे "अनलॉक 2.0 / Unlock 2.0" शुरू हो रहा है। 



1 जुलाई से भारत में अनलॉक 2.0 की घोषणा


Unlock 2.0 Announcement in India from 1st July -: भारत 24 मार्च से लगभग तीन महीने के लिए पूर्ण और आंशिक लॉकडाउन के तहत रहा है और देश में वृद्धि पर कोरोनावायरस मामलों के साथ, यह आश्चर्यजनक है कि केंद्र सरकार सेवाओं और व्यवसायों की बहाली के साथ आगे बढ़ रही है।

हालांकि, लगातार चार चरणों में तालाबंदी के बाद, केंद्र ने 1 जून से "अनलॉक 1.0" की घोषणा की थी, जिसमें सेवाओं को कई क्षेत्रों में चरणबद्ध तरीके से फिर से शुरू किया गया, जहां 30 जून तक कड़े रहने के उपाय जारी हैं।

पहले से ही "अनलॉक 1.0" के 19 दिनों के साथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और प्रशासकों को "अनलॉक 2.0" पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सभी सुरक्षा उपायों का पालन किया जा रहा है, तथा यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि अर्थव्यवस्था का पहिया घूम रहा है।

इस सप्ताह के शुरू में सीएम के साथ अपनी बातचीत में, पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि कोविड-19 संक्रमण के उच्च और बढ़ते मामलों वाले राज्यों में सख्त प्रोटोकॉल बनाए रखना महत्वपूर्ण है, जबकि उन राज्यों में भी स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए जहां खतरा घट रहा है।


क्या होंगे अनलॉक 2.0 के प्रमुख बिंदु:

Main Key Features for Unlock 2.0 in India -: यहाँ पर इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि अनलॉक 2.0 के तहत सभी लोग केवल जरुरी काम से ही बाहर निकालें। छोटे बच्चों व बुजुर्गों को ज्यादा समय घर के अंतर रहने की ही सलाह स्वाथ्य मंत्रालय द्वारा पहले ही जारी की जा चुकी है। आइये अब आपके बताते हैं कि अनलॉक 2.0 में क्या नए बदलाव देखने को मिलेंगे।

  • प्रधानमंत्री ने कहा कि "लॉकडाउन की अफवाहों को रोकना होगा" और देश अब "अनलॉकिंग के चरण" में है। इस बारे में सोचें कि लोगों को नुकसान की संभावनाओं को कैसे कम किया जाए।
  • कम प्रतिबंधों ने स्वस्थ आर्थिक प्रदर्शन का संकेत दिया है। मुद्रास्फीति नियंत्रण में रही है। बुनियादी ढांचे और निर्माण-संबंधी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए राज्य उचित कदम उठाएंगे।
  • मुश्किल स्थिति से निपटने के लिए कोविड-19 रोगियों के परीक्षण, ट्रैकिंग, अनुरेखण और क्वारंटाइन में वृद्धि की जाएगी। संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़ने के साथ, यह एक राहत है कि बहुत कम रोगियों को आईसीयू बेड और वेंटीलेटर देखभाल की आवश्यकता होगी।
  • राज्यों को वायरस से निपटने की क्षमता बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे, सूचना प्रणाली, भावनात्मक समर्थन और सार्वजनिक भागीदारी पर जोर देना जारी रखा जायेगा।
  • यह सुनिश्चित किया जाना जायेगा कि ऐसे संकट में समय पर सूचना के महत्व के कारण लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर "असहाय नहीं बल्कि सहायक" हैं। टेलीमेडिसिन के माध्यम से रोगियों का मार्गदर्शन करने में मदद करने के लिए वरिष्ठ डॉक्टरों और स्वयंसेवकों की टीमों का गठन किया।
  • लोगों को सैनिटेशन से होने वाले फायदों की याद दिलाने, फेस मास्क पहनने और सामाजिक दूरियां बनाए रखने के लिए सख्ती बारती जाएगी।
  • रिकवरी के अच्छे रिकॉर्ड वाले राज्यों को अपनी सर्वश्रेष्ठ विधियों को दूसरों के साथ साझा करना चाहिए।
  • लोगों को सतर्क रहना चाहिए। सभी मुख्यमंत्रियों को नागरिकों को “आत्म-ढाल” के रूप में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।


क्या होंगे अनलॉक 2.0 के नए नियम

New Rules & Guidelines for Unlock 2.0 in India -: यह अनलॉक 2.0 हो या चल रहे अनलॉक 1.0 के दूसरे चरण में हों - 30 जून को समाप्त होने के वर्तमान चरण के समाप्त होने के बाद अधिक प्रतिबंध 1 जुलाई से समाप्त हो जाएंगे। इससे पहले, यह अनुमान लगाया गया था कि शिक्षण संस्थान इस में फिर से खुल सकते हैं। लेकिन बढ़ते मामलों को देखते हुए, क्योंकि कई राज्य लॉकडाउन को फिर से खोल रहे हैं, स्कूल और कॉलेज अब बिल्कुल भी दोबारा नहीं चल पाएंगे।

तो अनलॉक 2.0 में क्या होगा? तो आइये आपको बताते हैं इसके कुछ नए नियम:

रिपोर्टों के अनुसार, रेलवे मौजूदा बंच में और अधिक विशेष ट्रेनें जोड़ देगा। भोपाल और लखनऊ से सीधी ट्रेनें होंगी। रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवे कार्यालयों को लोकप्रिय लाइनों की मांग करने के लिए कहा है। वाराणसी से जनता एक्सप्रेस, कोलकाता से दून एक्सप्रेस की तर्ज पर विशेष ट्रेनें हो सकती हैं। क्या सामान्य रेल सेवाएं फिर से शुरू होंगी? इसकी कम संभावना। लेकिन विशेष ट्रेनों की संख्या में काफी वृद्धि होगी।


अधिक घरेलू उड़ानें (Domestic Flights will Increase):

हालांकि सामान्य ऑपरेशन से बहुत दूर, हवाई अड्डे धीरे-धीरे अधिक उड़ानों के दरवाजे खोल रहे हैं। उदाहरण के लिए, मुंबई हवाई अड्डे ने प्रति दिन 20 उड़ानों के साथ घरेलू संचालन शुरू किया। अब संख्या 100 हो गई है। निजी एयरलाइंस को अधिक घरेलू उड़ानें शुरू करने की अनुमति दी जाएगी। एयर इंडिया ने पहले ही कई उड़ान मार्गों में अधिक घरेलू उड़ानों की घोषणा की हैं। 

वंदे भारत के तहत विदेशी वाहकों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें (International flights by foreign carriers under Vande Bharat):

वंदे भारत मिशन को नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा फंसे हुए यात्रियों - भारतीयों और अन्यों - दोनों के लिए शुरू किया गया था। लेकिन अब जब कई देशों ने इस प्रक्रिया का हिस्सा बनने की इच्छा व्यक्त की है - वे चाहते हैं कि उनके वाहक अपने नागरिकों को बाहर निकाल दें - भारत अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन के साथ द्विपक्षीयउड़ान स्थापित कर सकता है। इसलिए, अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें अनलॉक 2 में फिर से शुरू नहीं हो सकती हैं। लेकिन कुछ अंतरराष्ट्रीय वाहकों को भारतीय हवाई क्षेत्र में प्रवेश मिल सकता है। मंत्रालय ने हाल ही में कहा है “ये सभी गंतव्य हैं जहां यात्रा की मांग कम नहीं हुई है। बातचीत के लिए अंतिम निर्णय जल्द ही लिए जाने की उम्मीद है"।


इसके अलावा कुछ अन्य प्रमुख बिंदु हैं जिन पर फैसला केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों पर छोड़ दिया गया है जो निम्नलिखित हैं:
  • अनावश्यक घूमने वालों पर होगी कार्यवाही व देना होगा जुर्माना (भुगतान राशि राज्य सरकार तय करेगी)। 
  • बिना मास्क, सार्वजानिक स्थानों पर थूकने व सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन न करने पर देना होगा जुर्माना (भुगतान राशि राज्य सरकार तय करेगी)।
  • एक जिले से दूसरे जिले में जाने हेतु नहीं होगी पास की आवश्यकता लेकिन एक राज्य से दूसरे राज्य जाने हेतु पास चाहिए या नहीं इसका फैसला राज्य सरकार करेगी। 
  • क्वारंटाइन के नियमों का सख्ती से होगा पालन। नियमों के उल्लंघन पर सीधा दर्जा हो सकता हत्या की कोशिश का मुकदमा या भरना पड़ सकता है भारी जुर्माना। 
  • बुजुर्गों, छोटे बच्चों व बीमार व्यक्तियों को घर से कम निकलने की सलाह हेतु पहले ही स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी की जा चुकी है। 
  • कन्टेंटमेंट जोन तथा सील इलाकों में किसी को घुसने की किसी को अनुमति नहीं होगी। इन क्षेत्रों में जाने वाले व्यक्तियों को क्वारंटाइन किया जायेगा। 
  • सभी मॉल, दुकानें, बाजार, खाने के होटल रेस्टोरेंट (50% क्षमता) के साथ फिर से खुल जायेंगे। एक जगह पर अनावश्यक भीड़ लगाने वालों पर होगी सख्त कार्यवाही। 
  • अधिक से अधिक सेवाएं होम डिलीवरी मॉडल पर चलेंगी। इसी के साथ शादी-विवाह व अन्य कार्यक्रमों हेतु 50 से 80 लोगों को जमा होने की ही अनुमति दी जाएगी (राज्य सरकार पर निर्भर)।
  • धार्मिक सभाओं, राजनितिक रैलियों, जन सभाओं पर पूर्णतः रहेगा प्रतिबन्ध। नियम का उल्लंघन करने पर होगी दंडनीय कार्यवाही। 
  • सभी लोगों को यह सलाह दी जाती है कि "सुरक्षा स्टोर (कोरोना वाइरस से सुरक्षित दुकान प्रमाण पत्र)" से ही सामन खरीदें। सुरक्षा स्टोर रजिस्ट्रेशन व नजदीकी कोरोना मुक्त दुकान का पता लगाने हेतु यहाँ क्लिक करें


किसी भी प्रकार की सहायता व मदद के लिए राज्यवार 24x7 कोरोना हेल्पलाइन हेतु यहाँ क्लिक करें। सभी राज्यों (राज्यवार) कोरोना महामारी के बीच रहत पैकेजों, रोजगार योजनाओं, सहायता राशि आदि की जानकारी हेतु यहाँ 




उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

No comments

आपका हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर कमेंट करने के लिए ध्यन्यवाद। हमारी टीम आप से जल्द ही संपर्क करेगी तथा आपकी समस्या का हल करेगी। हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर आते रहें।