Home Top Ad

APL/BPL/AAY स्मार्ट राशन कार्ड उत्तराखंड ग्रामीण व शहरी आवेदन

Share:
Ration Card Uttarakhand | Uttarakhand NFSA Ration Card List | How to Add Name in Ration Card in Uttarakhand  | Uttarakhand Smart Ration Card | Ration Card Online | Ration Card Check | Uttarakhand Ration Card Online Verification | Uttarakhand Ration Card List Kaise Dekhe | Uttarakhand Ration Card Suchi | UK NFSA Ration Card List

राशन कार्ड सबसे महत्वपूर्ण बहुउद्देश्यीय कानूनी दस्तावेजों में से एक है। उत्तराखंड सरकार के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग उत्तराखंड के नागरिक को राशन कार्ड जारी करता है। राशन कार्ड का महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह धारक को उत्तराखंड सरकार द्वारा प्रदान की गई सभी सब्सिडी प्राप्त करने में सक्षम बनाता है। राशन कार्ड के धारक अत्यधिक रियायती कीमतों पर दैनिक जरूरतों के लिए सभी आवश्यक वस्तुओं की खरीद भी कर सकते हैं। इस लेख में, हम विस्तार से उत्तराखंड स्मार्ट राशन कार्ड प्राप्त करने की प्रक्रिया की जानकारी प्रदान कर रहे हैं। सभी भागों को ध्यानपूर्वक पढ़ें व पूरी प्रक्रिया का पालन करें।



राशन कार्ड धारकों के लिए मुफ्त अनाज

Uttarakhand Smart Ration Card Application Hindi PDF
Free Ration by Uttarakhand Government for Ration Card Holders -: राज्य में कोई खाद्य और खाद्य तेल की कमी नहीं है यह सुनिश्चित करने के लिए, खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग ने दो बड़े फैसले लिए। अप्रैल से जून तक तीन महीने के लिए प्रत्येक राशन कार्ड धारक को 5 किलो चावल मुफ्त देने की घोषणा की है और राज्य में निर्माताओं और आपूर्तिकर्ताओं को निर्देश दिया है कि उनका 50% स्टॉक राज्य के लोगों के लिए आरक्षित है।

आयुक्त खाद्य और नागरिक आपूर्ति सुशील कुमार द्वारा आदेश पारित किए गए थे। वर्तमान में, उत्तराखंड में लगभग 23 लाख राशन कार्ड धारक हैं। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत नियमित आपूर्ति के अलावा, सरकार ने लाभार्थियों को 5 किलो चावल मुफ्त देने का फैसला किया है। कार्ड धारकों को दिया जाने वाला नियमित राशन निर्धारित दर पर होगा और अतिरिक्त 5 किलो चावल मुफ्त होगा।

दूसरे आदेश में, देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर और नैनीताल के जिलाधिकारियों के लिए, आयुक्त ने कहा कि केंद्र के निर्देश के अनुसार, आवश्यक उत्पादों की उपलब्धता, उनके वितरण और स्टॉक की स्थिति की दैनिक आधार पर समीक्षा की जा रही है और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि वर्तमान में या भविष्य में कोई कमी नहीं है। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए, उन्होंने अपने जिलों में इसे सुनिश्चित करने के लिए डीएम को आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया।

उत्तराखंड सरकार द्वारा स्मार्ट राशन कार्ड हेतु नए दिशानिर्देश

New Guidelines Issued by Government of Uttarakhand for Making Smart Ration Card -: सार्वजनिक वितरण प्रणाली यानी पीडीएस / Public Distribution System or PDFS के तहत नया स्मार्ट राशन कार्ड प्राप्त करने के लिए कार्डधारक को 17 रुपये का शुल्क देना होगा। उत्तराखंड सरकार ने स्मार्ट राशन कार्ड के लिए एक नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत अगर राशन कार्ड खो जाता है या खराब हो जाता है, तो डुप्लिकेट कार्ड पर 25 रुपये का शुल्क लगेगा।


सस्ता राशन पाने के लिए वर्तमान में राज्य में राशन कार्डों की अवधि वर्ष 2018 में समाप्त हो गई है। अब राज्य में सरकार द्वारा पोर्टेबिलिटी राशन कार्ड / Portability Ration Cards बनाए जा रहे हैं। इसके लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने नए स्मार्ट राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

सरकार द्वारा सभी जिलों को जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार, अंत्योदय, प्राथमिक परिवार और राज्य खाद्य योजना के तहत बने राशन कार्डों में एकरूपता होगी। नए राशन कार्ड और नवीनीकरण के लिए उपभोक्ता को 17 रुपये का शुल्क देना होगा। जबकि डुप्लीकेट राशन कार्ड बनाने के लिए 25 रुपये का शुल्क देना होगा। नए स्मार्ट राशन कार्ड पर जिला आपूर्ति अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर किए जाएंगे। पुराना राशन कार्ड धारक को नया कार्ड बनाते समय जमा करना होगा। जिला मजिस्ट्रेट की ओर से नामित मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में पुराने राशन कार्डों को नष्ट कर दिया जाएगा।

एक कार्ड में दस परिवार के सदस्य तक होंगे शामिल: नए राशन कार्ड में अधिकतम दस सदस्य पंजीकृत हो सकते हैं। यदि किसी परिवार में सदस्यों की संख्या 10 से अधिक है, तो ऐसे कार्ड धारक को एक अलग कार्ड बनाया जाएगा। पहले चरण में, एक ही राशन कार्ड धारकों को नए कार्ड बनाए जाएंगे, जिसमें सभी सदस्यों की आधार संख्या सत्यापित की गई है। राज्य में नए स्मार्ट राशन कार्ड बनाने के लिए सभी जिलों को दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

उत्तराखंड में राशन कार्ड के लाभ

Benefits Provided by Government to Ration Card Holders in Uttarakhand -: उत्तराखंड राशन कार्ड प्राप्त करने के लाभों के बारे में विस्तार से नीचे बताया गया है।
  • पहचान प्रमाण (Identification Proof): जैसा कि ऊपर कहा गया है, राशन कार्ड एक महत्वपूर्ण पहचान प्रमाण के रूप में कार्य करता है। राशन कार्ड नंबर को आधार कार्ड से जोड़ा जा सकता है, जो बदले में बैंक खाते से जुड़ा होगा। इस प्रकार राशन कार्ड एक बहुउद्देश्यीय कानूनी दस्तावेज के रूप में सेवारत है जो कई महत्वपूर्ण कार्यों को सुविधाजनक बनाता है।
  • सरकारी सब्सिडी (Government Subsidy): उत्तराखंड सरकार राशन कार्डधारकों के लिए आवश्यक खाद्य पदार्थों और वस्तुओं के लिए सब्सिडी प्रदान करती है। राशन कार्ड धारकों को नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों द्वारा आपूर्ति किए जाने वाले आवश्यक खाद्य पदार्थों, वस्तुओं और वस्तुओं को निम्नानुसार सूचीबद्ध किया गया है।
    • चावल और गेहूं
    • चीनी
    • पेट्रोलियम उत्पाद
    • मिटटी तेल
    • रसोई गैस
  • पते का सबूत (Address Proof): राशन कार्ड उत्तराखंड सरकार द्वारा आवश्यक कानूनी पहचान प्रमाण दस्तावेज के रूप में कार्य करता है। यह कानूनी दस्तावेज पूरे परिवार के लिए एक प्रमाणित पहचान प्रमाण के रूप में कार्य करता है क्योंकि इसमें परिवार के सदस्यों का विवरण शामिल है जैसे कि पति या पत्नी, माता-पिता और बच्चों का विवरण।
  • सरकारी प्रक्रिया (Government Procedures): उत्तराखंड में संपत्ति खरीदने के लिए राशन कार्ड एक अनिवार्य प्रमाण है। बैंक में ऋण के लिए आवेदन करते समय राशन की जरूरत पते के प्रमाण के रूप में प्रस्तुत किया जाता है। पासपोर्ट और पैन आवेदन करने के लिए भी आवेदक पते के प्रमाण के रूप में राशन कार्ड का प्रयोग किया जा सकता है। 


उत्तराखंड राशन कार्ड के प्रकार

Types of Ration Card Issued by Uttarakhand Government -: उत्तराखंड सरकार विभिन्न श्रेणियों के परिवारों (उपभोक्ताओं) को एक अलग रंग का राशन कार्ड प्रदान करती है।
  • एपीएल राशन कार्ड / APL Ration Card (पीला कार्ड): यह कार्ड गरीबी रेखा से ऊपर के परिवार जिनकी वार्षिक आय 15,000 रुपये से अधिक है, हेतु जारी किया जाता है।
  • राज्य खाद्य योजना कार्ड / State Food Yojana Card (सफेद कार्ड): जिन परिवारों की वार्षिक आय 15,000 रुपये से कम है, उनके लिए इसे जारी किया जाता है।
  • बीपीएल राशन कार्ड / BPL Ration Card (सफेद कार्ड): यह राशन कार्ड गरीबी रेखा से नीचे के परवारों हेतु जारी किया जाता है।
  • अंत्योदय अन्न योजना / Antyodaya Anna Yojana - AAY / (गुलाबी कार्ड): अंत्योदय अन्न योजना के अंतर्गत आने वाले परिवार ही इस राशन कार्ड को प्राप्त कर सकते हैं।
  • अन्नपूर्णा योजना / Annapurna Yojana (हरा कार्ड): यह राशन कार्ड 60 या 65 वर्ष के वरिष्ठ नागरिक और जिनके पास कोई पेंशन सुविधा नहीं है ऐसे लोगों को प्रदान किया जाता है।

राशन कार्ड आवेदन हेतु नियम व शर्तें

Rules to Apply for Ration Card in Uttarakhand -: यदि आप उत्तराखंड के निवासी हैं तो आपको राशन कार्ड प्राप्त करने हेतु नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा। 

पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria):

नए उत्तराखंड राशन कार्ड / Uttarakhand Ration Card के लिए आवेदन करने के लिए पात्रता मानदंड निम्नानुसार हैं:
  • आवेदक के पास राशन कार्ड नहीं होना चाहिए। 
  • हाल ही में उत्तराखंड में शादी करने वाले जोड़े आवेदन कर सकते हैं। 
  • अस्थायी राशन कार्ड या पिछले कार्ड की समाप्ति के धारक नए राशन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।


राशन कार्ड की वैधता (Ration Card Validity):

  • उत्तराखंड राशन कार्ड / Uttarakhand Ration Card 5 साल के लिए वैध है। वैधता अवधि के बाद फिर से आवेदन करके नवीनीकृत किया जा सकता है।

राशन कार्ड हेतु शुल्क (Application Fees for Ration Card):

  • उत्तराखंड राशन कार्ड / Uttarakhand Ration Card प्राप्त करने के लिए, आवेदन शुल्क के रूप में 5 रुपये की राशि का भुगतान करना होगा।
  • उत्तराखंड नया स्मार्ट राशन कार्ड / Uttarakhand New Smart Ration Card प्राप्त करने के लिए कार्डधारक को 17 रुपये का शुल्क देना होगा। 
  • अगर राशन कार्ड खो जाता है या खराब हो जाता है, तो डुप्लिकेट कार्ड पर 25 रुपये का शुल्क लगेगा।

दस्तावेज़ की आवश्यकता (Required Documents):

उत्तराखंड में राशन कार्ड / Ration Card in Uttarakhand के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों को नीचे विस्तार से बताया गया है।
  • पता प्रमाण जैसे पानी, बिजली या टेलीफोन बिल
  • यदि किराए पर है तो किराया रसीद
  • एक नगर या ग्राम पंचायत से दूसरे निवास स्थान के राशन कार्ड में स्थानांतरित करने के मामले में
  • सरेंडर सर्टिफिकेट
  • सरकार या अर्ध सरकारी कार्मिकों के लिए - संस्थागत प्रमुख द्वारा निवास का पता और सदस्यों की संख्या का प्रमाण पत्र
  • पंजीकृत औद्योगिक संस्थानों में काम करने वाले लोगों के लिए - संस्थागत प्रमुख या रिपोर्टिंग अधिकारी द्वारा निवास प्रमाण पत्र और सदस्यों की संख्या
  • शहरी क्षेत्र के छात्रों के लिए - संस्थागत प्रमुख द्वारा शिक्षा और आवासीय पता लेने के लिए प्रमाण पत्र
  • फैमिली हेड की तस्वीर

शहरी क्षेत्र में राशन कार्ड हेतु आवेदन

Apply for Ration Card in Urban Area -: उत्तराखंड के शहरी क्षेत्रों में राशन कार्ड प्राप्त करने के लिए चरण-प्रक्रिया द्वारा नीचे दिए गए चरण का पालन करें।


पहला चरण - आवेदन पत्र जमा करें (Submit Application Form):

नया उत्तराखंड राशन कार्ड प्राप्त करने के लिए, आवेदक को एक निर्धारित प्रारूप में एक आवेदन पत्र भरना होगा। आवेदन पत्र में निम्नलिखित विवरण दें:
  • नाम और पता
  • परिवार का विवरण
  • गैस कनेक्शन का विवरण
  • आय का विवरण
  • बैंक खाता संबंधी जानकारी

Download Ration Card Application Form (Urban Area Uttarakhand) in Hindi - PDF

दूसरा चरण - जिला आपूर्ति कार्यालय से संपर्क करें (Contact to DSO / District Supply Office):

  • आवेदन पत्र में सभी विवरण प्रदान करने के बाद, जिला आपूर्ति कार्यालय (डीएसओ) में क्लर्क के पास सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन जमा करें।

तीसरा चरण - पावती रसीद प्राप्त करें (Receive Get Acknowledgement Receipt):

  • आवेदन पत्र और अन्य सभी दस्तावेजों की पुष्टि करने के बाद, क्लर्क एक पावती रसीद जारी करेगा। 
  • कृपया यह ध्यान दें कि रसीद को भविष्य के संदर्भ के लिए सुरक्षित रखें।


चौथा चरण - एसआई सत्यापन (SI Verification):

  • क्लर्क आवेदन को संबंधित क्षेत्र के आपूर्ति निरीक्षक (एसआई) को भेजेगा।
  • सभी दस्तावेजों को सत्यापित करने के बाद, एसआई अन्य सभी विवरणों की जांच करने के लिए घर का दौरा करेगा।
  • यदि सत्यापन संतोषजनक है, तो एसआई क्लर्क को आवेदन वापस करने के लिए राशन कार्ड के मुद्दे को मंजूरी देगा।

पांचवां चरण - राशन कार्ड जारी करना (Issuance of Ration Card):

  • क्लर्क एक नया राशन कार्ड बना देगा जिसमें परिवार के सभी सदस्यों की संख्या, नाम, परिवार के मुखिया की तस्वीर होगी। क्लर्क, मास्टर रजिस्टर में राशन कार्ड की प्रविष्टियाँ दर्ज करता है। राशन कार्ड को घर के नजदीक उचित मूल्य की दुकान (एफपीएस) के साथ संलग्न किया जाएगा।
  • आपको क्लर्क को पावती रसीद देनी होगी जिसके बाद आपको नया राशन कार्ड प्रदान किया जायेगा।

ग्रामीण क्षेत्र में राशन कार्ड हेतु आवेदन

Apply for Ration Card in Uttarakhand Rural Area -: ग्रामीण क्षेत्र में राशन कार्ड प्राप्त करने के लिए, नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन करें:
  • चरण 1: ग्रामीण क्षेत्र में राशन कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए, क्षेत्र में खंड विकास कार्यालय यानी बीडीओ / Block Development Office or BDO जाएँ।
  • चरण 2: बीडीओ कार्यालय में ग्राम पंचायत अधिकारी यानी जीपीओ / Gram Panchayat Officer or GPO के पास अन्य सभी दस्तावेजों के साथ एक आवेदन जमा करें।

Download Application Form for Ration Card in Rural Area - Hindi PDF


  • चरण 3: जीपीओ दस्तावेजों को सत्यापित करेगा और आवेदक को एक पावती रसीद देगा। जीपीओ एसआई को भी आवेदन अग्रेषित करेगा।
  • चरण 4: एसआई सत्यापन के लिए घर का दौरा करेगा।
  • चरण 5: यदि सत्यापन संतोषजनक है, तो वह राशन कार्ड के मुद्दे को मंजूरी देगा।
  • चरण 6: जीपीओ एक नया राशन कार्ड बनाता है, परिवार इकाइयों की गणना करता है, परिवार के मुखिया की तस्वीर चिपकाता है और मास्टर रजिस्टर में राशन कार्ड प्रविष्टियाँ दर्ज करता है। आवेदक का राशन कार्ड घर के पास उचित मूल्य की दुकान यानी एफपीएस / the Fair Price Shop or FPS के साथ संलग्न किया जाएगा।
  • चरण 7: जीपीओ को पावती रसीद का प्रदान करने पर, आवेदक राशन कार्ड एकत्र कर सकता है। 


राशन कार्ड नवीनीकरण (Ration Card Renewal):

  • राशन कार्ड नवीनीकरण प्रक्रिया उत्तराखंड में नए राशन कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए समान है
  • पुराने राशन कार्ड के लिए उपरोक्त सभी अन्य सहायक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र संलग्न करना आवश्यक है 
  • वैद्यता समाप्ति के बाद राशन कार्ड को नवीनीकृत करने की समय सीमा 2 महीने है और यदि समय के भीतर इसे नवीनीकृत नहीं किया जाता है, तो राशन कार्ड प्रविष्टि रजिस्टर से हटा दी जाएगी। 
  • उत्तराखंड राशन कार्ड के नवीनीकरण के लिए 5 रुपये की राशि का भुगतान करनी होती है। 


आपका समर्थन

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

यह भी पढ़ें -:

No comments

आपका हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर कमेंट करने के लिए ध्यन्यवाद। हमारी टीम आप से जल्द ही संपर्क करेगी तथा आपकी समस्या का हल करेगी। हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर आते रहें।