Home Top Ad

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना: फ्री गैस, मासिक पेंशन व बीमा

Share:
Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana | Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana Hindi PDF | Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana PDF | PM Garib Kalyan Yojana | Kalyan Yojana Form | Pradhan Mantri Garib Kalyan Deposit Scheme | Taxation and Investment Regime for Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना / Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana or Scheme: भारतीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लिए 1.7 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अप्रैल तक कोरोनावायरस इंडिया लॉकडाउन की घोषणा की। अब तक, कोई भी कोरोनावायरस वेक्सीन या दवाई नहीं खोज पाया है। हर कोई वायरस और इसके तेजी से बढ़ते केस नंबर के बारे में इस समय हर कोई जानता है। यह वायरस हजारों मनुष्यों में खुद को केवल कुछ सेकंड में गुणा करने में सक्षम है।


हमारी सरकार ने वायरस के घातक प्रसार से लड़ने के लिए, हमारे प्रधानमंत्री ने 24 मार्च को 21 दिनों के तालाबंदी जिसे लॉकडाउन भी कहा जाता है, की घोषणा की। सभी स्कूल, निर्माण, व्यवसाय, कार्यालय, सब कुछ अब 21 तक बंद रहेंगे।

यह भी पढ़ें - कोरोनावायरस क्या है: बचाव, इलाज व दवाई की जानकारी हिंदी में

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की स्थिति

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana 2020

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana Status -: आपको बताते चलें कि इस वाइरस के चलते अस्पतालों में अन्य स्वास्थय सेवाओं को अगले आदेश तक निलंबित कर दिया गया। सभी अस्पताल केवल कोरोनावायरस के उपचार के व रोकथाम के लिए काम कर रहे हैं। इस समय सभी अस्पताल केवल कोरोना वाइरस के मामलों पर ही काम कर सकते हैं। लॉकडाउन का उद्देश्य नागरिकों को सामाजिक संपर्क को रोकना है। इस वायरस के प्रसार को रोकना आवश्यक है।


ऐसे मामले में जहां राष्ट्र में सब कुछ रुक गया है, वहां बड़ी संख्या में ऐसे मजदूर हैं जो अपनी मजदूरी हर रोज कमाते हैं। कुछ डॉक्टर संक्रमित लोगों को बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं। स्टोर, फार्मेसियों, सब्जी की दुकानों, आदि जैसे आवश्यक स्थानों में दैनिक श्रमिक हैं। ये सभी एक इंसान के लिए आवश्यक आवश्यक वस्तुएं हैं। इसलिए सरकार लोगों के दरवाजे पर सभी आवश्यक उत्पादों को लाने की दिशा में काम कर रही है।

हालांकि, इस लॉकडाउन से नियमित मजदूरी पर काम करने वाले कर्मचारी सबसे अधिक प्रभावित होंगे। यह संभावना है कि उनके निजी स्वामी उनके वेतन में कटौती कर सकते हैं। और आपातकाल के ऐसे मामलों में, बिना पैसे के गरीब लोग सबसे ज्यादा पीड़ित होंगे। गरीब लोगों की मदद करने के लिए, सरकार ने गरीब लोगों और डॉक्टरों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना / Prime Minister Poor Welfare Scheme के माध्यम से कुछ राहत देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें - पीएम बालिका समृद्धि योजना: जन्म से 12वीं तक वित्तीय सहायता

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना क्या है?

What is Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana -: जैसा कि नाम से पता चलता है, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना हमारे राष्ट्र के गरीब लोगों की भलाई के लिए काम करेगी। यह योजना 2020 में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई है। कार्यक्रम के तहत, लोगों द्वारा काले धन के खुलासे से एकत्र की गई राशि से गरीब लोगों की मदद की जाएगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की नवीनतम घोषणाओं के अनुसार, 80 करोड़ गरीबों को इस योजना से मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना / Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के तहत एकत्रित धनराशि, अन्य निधियों के अतिरिक्त, धनराशि का वितरण करती थी।


निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि यदि कोई भी स्वास्थ्य पेशेवर जो कोरोना वायरस के उपचार के लिए अस्पतालों में काम कर रहा है, अगर खुदा-न-खास्ता अगर उनके साथ कुछ गलत हो जाता है, तो उन्हें 50 लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा। यह कवर डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय और अन्य लोग अस्पतालों में काम कर रहे हैं उनको दिया जायेगा। किसानों के बैंक खातों में भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत दी जाने वाली धनराशि को सीधा बैंक अकाउंट में भेजा जायेगा।

यह भी पढ़ें - प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि चौथी किस्त सूची में नाम देखें

 प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की मुख्य विशेषताएं:

Main Key Highlights of Pradhan Mantri / PM Garib Kalyan Yojana -: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने महामारी के तहत काम करने वालों तथा अन्य नागरिकों की मदद करने के लिए निम्नलिखित घोषणाएं कीं:

  • किसानों को प्रति परिवार 2000 रुपये के सीधे उनके बैंक खातों में भेजे जायेंगे। अप्रैल के पहले सप्ताह में राशि का हस्तांतरण केंद्र सरकार द्वारा शुरू हो जायेगा।
  • डॉक्टर या जो लोग कोरोनावाइरस / कोविड-19 प्रभावित रोगियों के इलाज के लिए काम कर रहे हैं, उन्हें प्रक्रिया के दौरान अगर अस्वस्थ हो जाते हैं तो  50 लाख रुपये का बीमा कवर दिया जायेगा।
  • वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांगों को भी दो किस्तों में 1000 रुपये का लाभ दिया जायेगा। यह पेंशन राशि सभी को तीन महीनों तक सीधे डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।
  • मनरेगा के तहत दैनिक मजदूरी श्रमिकों को 2000 रुपये की अतिरिक्त राशि मिलेगी।
  • अब तक, 80 करोड़ गरीबों को 5 किलो चावल और गेहूं मिल रहा है। लेकिन आपातकाल के दौरान उन्हें तीन महीने तक प्रति परिवार एक किलो दाल और 5 किलो अतिरिक्त चावल / गेहूं मिलेगा।
  • जो महिलाएं स्वयं सहायता समूहों के लिए काम करती हैं, उन्हें 10 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाता था। लेकिन अब उन्हें 20 लाख रुपये का ऋण मिल बिना किसी गारंटी के दिया जायेगा।
  • जन धन योजना के तहत पंजीकृत महिलाओं को तीन महीने के लिए प्रति माह 500 रुपये मिलेंगे। 
  • उज्जवला योजना के तहत, गरीबी रेखा के नीचे की श्रेणी में आने वाले परिवारों को तीन महीने के लिए मुफ्त सिलेंडर मिलेगा।

यह भी पढ़ें - प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना: आवेदन करें व लाभार्थी सूची

क्या है ये कोरोना वाइरस और भारत का अब क्या होगा

What is Coronavirus & What will Happen Next in India -: कोरोनवायरस वायरस पहली बार 31 दिसंबर, 2019 को उजागर हुआ था। यह तब था जब चीन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को एक अज्ञात वायरस द्वारा बीमारी के घातक प्रसार के बारे में सूचित किया था। डब्ल्यूएचओ ने लगातार नई होने वाली बीमारी पर ध्यान दिया है और इसे कोरोनावायरस यानी कोविड-19 नाम दिया। वायरस का सामना करने वाले पहले देश जैसे दुबई, अमरीका, जर्मनी और यूरोप के राज्य थे।


डब्ल्यूएचओ ने इस बीमारी को महामारी घोषित किया है। वर्तमान में, भारत में, 700+ मामले हैं, और महामारी के प्रसार को रोकने के लिए सरकार ने देशव्यापी तालाबंदी यानी लॉकडाउन की घोषणा की है।

रोग एक संक्रामक है और संक्रमित लोगों से अधिक फैलता है। अगर एक संक्रमित व्यक्ति सामान्य व्यक्ति के संपर्क में आता है तो सामन्य व्यक्ति को भी यह वाइरस प्रभावित कर देता है। इसलिए सामाजिक दूरी इंग्लिश में Social Distance ही इस से बचा सकता है। कई देशों ने लोगों के बीच सामाजिक संपर्क को कम करके काफी हद तक इस वाइरस के प्रसार पर काबू पा लिया है। यह एक छूत की बीमारी नहीं है। यह केवल एक संक्रमण के बाद बीमारी है। कोरोनावायरस लक्षण के दिखने में लगभग 10 दिन तक का समय लगता है।

जल्द ही कोरोनावायरस के मामलों की संख्या को कम करने के लिए, सरकार ने देशव्यापी तालाबंदी की घोषणा की है। तालाबंदी से प्रभावित लोग डॉक्टर और दिहाड़ी मजदूर हैं और उनकी मदद करने के लिए, हमारी सरकार ने घोषणा की है।


आपका समर्थन

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि आपको इस जानकारी से सम्बंधित कोई जानकारी हेतु मदद चाहिए, तो आप हमसे सहायता ले सकते हैं। कृपया अपना प्रश्न नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हमारी टीम आपकी पूरी सहायता करेगी। यदि आपको किसी और राज्य या केंद्र सरकार की योजना की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें।

यह भी पढ़ें -:

1 comment:

आपका हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर कमेंट करने के लिए ध्यन्यवाद। हमारी टीम आप से जल्द ही संपर्क करेगी तथा आपकी समस्या का हल करेगी। हमारी वेबसाइट Hindireaders.in पर आते रहें।